ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम : स्तन बढ़ाने का बेस्ट इंजेक्शन की पूरी जानकारी प्राप्त करें

ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम : अपना ब्रेस्ट साइज बड़ा और सही शेप में लाने के लिए लड़कियां क्या कुछ नहीं करती हैं। कभी ब्रेस्ट बढ़ाने का क्रीम तो कभी टेबलेट या फिर मसाज तेल। यहाँ तक कि पिछले कुछ समय से भारत में भी साइज बढ़ाने के लिए सर्जरी का प्रचलन तेज़ी से बढ़ा है।

लेकिन सर्जरी करने पर महिलाओं को काफी डर रहता है और साथ ही सर्जरी काफी महँगी भी रहती है जो हर महिला अफोर्ड नहीं कर सकती है। इसलिए आज हम बताने वाले हैं ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम (breast badhane ke injection name) जिससे आप आसानी से ब्रैस्ट साइज बढ़ा सकती हैं।

ब्रेस्ट बढ़ाने वाले इंजेक्शन को ब्रेस्ट फिलर इंजेक्शन के नाम से जाना जाता है और कुछ ही दिनों में ब्रेस्ट शेप सही हो जाता है। इसके बाद आप अपनी पसंद के कपड़े बड़े आत्मविश्वास के साथ पहन सकती हैं।

अगर आपका ब्रेस्ट साइज ठीक है लेकिन शेप ठीक नहीं है तो हमारा आर्टिकल ब्रेस्ट टाइट करने की पतंजलि क्रीम जरूर पढ़ें। चलिए शुरू करते हैं आर्टिकल और जानते हैं ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन कौन से हैं और क्या होते हैं।

ब्रेस्ट बढ़ाने का इंजेक्शन क्या होता है? Breast Enlargement Injection

ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम
Breast Badhane Ke Injection Ka Naam

ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन से बिना सर्जरी के ब्रेस्ट साइज बढ़ाया जाता है सिर्फ एक इंजेक्शन के द्वारा फैट या लिक्विड इंजेक्ट कर के। ये बहुत ही आसान और सस्ता तरीका है ब्रेस्ट साइज को सही आकार में लाने का।

यह प्रक्रिया दो प्रकार से की जाती है : 1) ब्रेस्ट फिलर इंजेक्शन (Breast filler injection) जिसमे ब्रेस्ट में इंजेक्शन के द्वारा पॉलीएक्रिलामाइड, हाइड्रोक्सीएपेटाइट, या अन्य लिक्विड भरा जाता है और कुछ दिनों में ब्रेस्ट साइज बढ़ जाता है।

2) दूसरा तरीका होता है फैट ट्रांसफर जिसमें फैट इंजेक्शन (Fat injection) के द्वारा शरीर के अधिक फैट वाले हिस्से से फैट को ब्रैस्ट में इंजेक्ट किया जाता है। इसका फायदा यह होता है कि इसमें किसी प्रकार का इन्फेक्शन का डर नहीं रहता है क्योंकि फैट आपके ही शरीर के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में डाला जाता है।

तो चलिए इन ब्रेस्ट बढ़ाने वाले इंजेक्शन के नाम के बारे में थोड़ा विस्तार से जान लेते हैं। लेकिन ध्यान रखें, बिना डॉक्टर के परामर्श और अनुमति के कहीं से भी इंजेक्शन न लगवाएं। डॉक्टर पहले आपके शरीर की बारीकी से जाँच करेगा उसके बाद ही इंजेक्शन लगाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें – ब्रेस्ट बढ़ाने की टेबलेट : स्तन बढ़ाने की 5 बेस्ट टेबलेट जो दिखाए जल्दी असर 

ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम ब्रेस्ट फिलर इंजेक्शन

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए ब्रेस्ट फिलर इंजेक्शन महिलाओं की पहली पसंद है जिसमे महिला के शरीर में अलग अलग प्रकार के फिलर यानि लिक्विड इंजेक्ट किये जाते हैं। कुछ मुख्य प्रकार के फिलर हैं साल्ट वाटर (Salt water), पॉलीएक्रिलामाइड, हाइड्रोक्सीएपेटाइट, इत्यादि।

ये फिलर शरीर में बड़ी आसानी से ओब्सोर्ब हो जाते हैं और आपके ब्रेस्ट साइज को बढ़ा देते हैं। फिलर के प्रकार के आधार पर इनका असर अलग अलग समय तक रहता है।

जैसे कि साल्ट फिलर का असर कुछ घंटे से लेकर 2, 3 दिन तक रहता है और यह उन लोगो के लिए बेहतर ऑप्शन है जो temporary breast size increase चाहती हैं। दूसरी ओर पॉलीएक्रिलामाइड फिलर का असर 2 साल या उससे अधिक समय तक रहता है।

ब्रेस्ट साइज बढ़ाने वाला इंजेक्शन है फैट इंजेक्शन

फैट इंजेक्शन ब्रेस्ट बढ़ाने का बहुत ही आसान तरीका है जिसमे महिला के शरीर के ही एक हिस्से से फैट हटाकर ब्रेस्ट में इंजेक्ट किया जाता है। इस प्रक्रिया को मेडिकल साइंस में ऑटोलॉगस फैट ट्रांसप्लांटेशन के नाम से भी जाना जाता है।जो सर्जरी या Breast implant से बेहतर ऑप्शन है।

शरीर के वजन और ब्रेस्ट साइज के आधार पर इंजेक्शन के जरिए अधिक फैट वाले हिस्से से फैट निकाला जाता है और इस प्रक्रिया को लिपोसेक्शन के नाम से जाना जाता है।

यह ब्रेस्ट बड़ा करने का सुरक्षित तरीका है क्योंकि इसमें किसी अन्य प्रकार का केमिकल प्रयोग नहीं किया जाता है बल्कि महिला के ही अतिरिक्त फैट का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए यदि आप ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम खोज रहे हैं तो अपने डॉक्टर से फैट इंजेक्शन के बारे में जरूर बात करें।

अलग अलग रिपोर्ट की मानें तो एक महिला में करीब करीब 250 से 175 सीसी फैट इंजेक्ट किया जाता है हालाँकि यह उस महिला के वजन और शारीरिक बनावट पर निर्भर करता है।

इसे भी पढ़ें – ब्रेस्ट साइज है बड़ा और गलत शेप में ? जानिए आयुर्वेदिक दवा 

फैट इंजेक्शन प्राइस क्या है – Breast Fat Injection Price

औसतन फैट इजेक्शन का खर्च 30 से 50 हज़ार तक होता है लेकिन यह काफी हद तक अस्पताल पर निर्भर करता है। यह अधिकतम एक लाख रूपये तक भी हो सकता है।

लेकिन इस टेक्नीक का फायदा यह है कि इससे शरीर या ब्रेस्ट पर कोई निशान नहीं रहता है जो सर्जरी या ब्रेस्ट इम्प्लांटेशन में आम बात है।

Breast Badhane Ka Injection ka naam है प्लेटलेट युक्त प्लाज्मा (पीआरपी)

पीआरपी इंजेक्शन तकनीक में महिला के रक्त में मौजूद प्लाज्मा को इंजेक्शन के जरिये ब्रेस्ट में इंजेक्ट (Inject) किया जाता है। प्लाज्मा रक्त के थक्के को बढ़ावा देता है और ब्रेस्ट सेल के विकास में मदद करता है।

ब्रेस्ट बढ़ाने का इंजेक्शन पीआरपी के बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है इसलिए इंजेक्शन लेने से पहले डॉक्टर से पूरी जानकारी ले लें। अपने स्तनों की अच्छी तरह जाँच कराएं, उसके बाद ही कोई निर्णय लें।

इसे भी पढ़ें – पेनिस साइज बढ़ाने की दवा oil : बस दो बूंद तेल और पत्नि होगी फुल संतुष्ट

ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन के नुकसान

जिन महिलाओं के स्तन छोटे हैं और ब्रेस्ट बढ़ाने के तरीके ढूंढ रही हैं उनके मन में यह सवाल अक्सर आता है कि क्या मुझे ब्रेस्ट बढ़ाने वाला इंजेक्शन लेना चाहिए? क्या यह सुरक्षित होता है? ये सवाल बहुत लाजिमी हैं।

अगर एक्सपर्ट डॉक्टर की देखरेख में पूरी ऐतियात बरती जाए तो यह काफी हद तक सुरक्षित प्रक्रिया होती है। लेकिन जैसा कि हमने ऊपर जाना, इंजेक्शन का असर अधिकतम 2 साल तक ही रहता है जिसके बाद आपको फिर से इंजेक्शन लेना पड़ता है।

ऐसे में बार बार इंजेक्शन लेना नुकसानदायक हो सकता है खासकर इससे ब्रेस्ट कैंसर के चांसेस बढ़ जाते हैं। सावधानी से यदि फैट या लिक्विड इंजेक्ट न किया जाए तो टिश्यू को नुकसान हो सकता और साथ ही सूजन की शिकायत भी हो सकती है।

ब्रेस्ट बढ़ाने का इंजेक्शन का नुकसान यह भी है कि कभी कभी ब्रैस्ट के इंटरनल स्ट्रक्चर की वजह से दोनों ब्रेस्ट में फिलर को सोखने की क्षमता अलग अलग होती है जिससे इनके साइज में फर्क आ जाता है।

निष्कर्ष

दोस्तों, आज के आर्टिकल में आपने जाना ब्रेस्ट बढ़ाने के इंजेक्शन का नाम (Breast badhane ka injection ka naam) जो आप बड़ी आसानी से ब्रेस्ट साइज बढ़ा देता है। महिलाओं  निश्चित रूप से यह आसान और फायदेमंद तरीका है।

तो यदि आपका साइज है काफी छोटा और यह आपके कम आत्मविश्वास का कारण है तो अब और नहीं। अब आपको न होगी खर्च की टेंशन और न ही निशान पड़ने का डर। लेकिन इंजेक्शन लेने से पहले डॉक्टर द्वारा सम्पूर्ण शारीरिक जाँच जरूर कराएं।

Leave a Comment