coronavirus news in hindi: 15 जुलाई से 18+ को मुफ्त लगेगी बूस्टर डोज

coronavirus news in hindi
coronavirus news in hindi

coronavirus news in hindi: इस समय देश में रोजाना 15 हजार से अधिक कोरोना केस आ रहे हैं जिसे देखते हुए मोदी सरकार ने 15 जुलाई से सबको booster dose लगवाने का फैसला किया है। भारत में पिछले 24 घंटों में 16,906 नए कोरोनोवायरस संक्रमण और 45 और मौतें दर्ज की गईं, सरकारी आंकड़ों ने आज दिखाया।

आपको बता दें कि 140 करोड़ आबादी वाले भारत में अभी तक दोनो डोज मिलाकर 199 करोड़ वैक्सीन डोसेस लग चुकी है। लेकिन बताया जा रहा है कि जिस उत्सुकता से लोगों ने पहली और दूसरी कोरोना वैक्सीन की डोज लगवाई, वह उत्सुकता बूस्टर डोज में नही दिख रही।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि 15 जुलाई से देश भर में “बूस्टर डोज अभियान” चलाया जाएगा। इसके तहत 18 वर्ष की उम्र से अधिक के सभी युवाओं और महिलाओं को मुफ्त में कोरोना की बूस्टर डोज लगाई जाएगी।

यह अभियान 75 दिनों तक चलेगा। हालांकि 199 करोड़ डोजेस भारत में लग चुकी हैं, लेकिन बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए सरकार चाहती है जल्दी ही सबको बूस्टर डोज लगाई जाए। इसके साथ ही सरकार ने बूस्टर डोज लगवाने के समय में भी बदलाव किया है।

इससे पहले बूस्टर डोज केवल वही लगवा सकता था जिसने 9 महीने पहले दोनों डोजेस लगवा ली हैं लेकिन यह समय अब कम कर के 6 महीने कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें –> corona virus news in hindi : दोबारा कोरोना होने से बढ़ता है मौत और गंभीर समस्याओं का खतरा, ये हैं बचने के उपाय 

Corona Virus News In Hindi: मुफ्त लगेगी बूस्टर डोज

तीसरी खुराक के कवरेज में सुधार लाने के उद्देश्य से यह अभियान भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर सरकार के ‘आजादी का अमृत महोत्सव‘ समारोह के हिस्से के रूप में आयोजित किया जाएगा। अभी तक 18-59 आयु वर्ग के 77 करोड़ की लक्षित आबादी में 1 प्रतिशत से भी कम लोगों को बूस्टर खुराक दी गई है।

इसलिए सरकार 75 दिनों के लिए एक विशेष अभियान शुरू करने की योजना बना रही है, जिसके दौरान 18 से 59 वर्ष की आयु के व्यक्तियों को 15 जुलाई से शुरू होने वाले सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर मुफ्त में बूस्टर खुराक दी जाएगी।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारत की 96 फीसदी आबादी को कोविड वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है जबकि 87 फीसदी लोगों ने दोनों खुराक ले ली है. हालांकि जब बूस्टर डोज की बात आती है तो ग्राफ काफी नीचे चला जाता है। इसलिए सरकार को इसकी चिंता है।

क्या है बूस्टर डोज? क्या बूस्टर डोज फायदेमंद है?

COVID बूस्टर dose वैक्सीन की एक अतिरिक्त खुराक यानि additional dose है जो ओरिजिनल वैक्सीन द्वारा प्रदान की गई सुरक्षा के समय के साथ कम होने के बाद दी जाती है। यानि कि जब कोरोना की दूसरी डोज का असर कम होना शुरू हो जाता है तब बूस्टर डोज दी जाती है।

बूस्टर लोगों को गंभीर कोरोनावायरस बीमारी से मजबूत सुरक्षा बनाए रखने में मदद करता है। पहले यह समय 9 महीने रखा गया था लेकिन अब इसे कम कर के 6 महीने कर दिया गया है।

मध्यम से गंभीर रूप से कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों को एक अतिरिक्त खुराक या बूस्टर खुराक दी जाती है। चूंकि कोरोना वायरस कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity system) वाले लोगों पर ज्यादा आसानी से हमला करता है इसलिए बूस्टर डोज अनिवार्य हो जाती है।

बूस्टर डोज की सलाह तब दी जाती है जब पहले लगाई गई डोजेस का असर कम होने लगता है या वो उतनी प्रभावी नहीं रहती हैं। वैक्सीन का प्रभाव कम होने पर नए स्ट्रेन द्वारा पीड़ित होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है।

Leave a Comment