ओसीडी के लिए योग आसन | 5 योगासन दूर करे मनोरोग

ओसीडी के लिए योग आसन (OCD ke liye yog aasan)

ओसीडी के लिए योग आसन: अक्सर टीनेजर्स से व्यस्क की उम्र यानि 15 से 27 तक की उम्र के लोगों को मानसिक तनाव और मानसिक दबाव बहुत आसानी से घेर लेते हैं। कभी स्कूल में अच्छे अंकों की टेंशन तो कभी अच्छी नौकरी का तनाव, और relationship का क्लेश, इन कारणों से मानसिक तनाव होना आम बात है।

इसी प्रकार तेजी से बढ़ती हुई मानसिक बीमारी है ओसीडी (OCD) जिसका पूरा नाम है ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर। डॉक्टर्स के मुताबिक ओसीडी को दूर करने का कारगर उपाय है योग आसन।

आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे OCD क्या है, ओसीडी के लिए योग आसन क्या है (OCD ke liye yog aasan, yoga for ocd in hindi, ओसीडी मनोरोग कैसे दूर करें।

ओसीडी क्या है What is OCD in hindi

ओसीडी एक मानसिक विकार है जिसका फुल फॉर्म ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर (Obsessive Compulsive Disorder) है। ओसीडी का हिंदी में मतलब मनोग्रसित बाध्यता विकार है। यह सामान्य तौर पर युवाओं और वयस्कों में देखा जाता है जो अत्यधिक तनाव में रहते हैं।

OCD की स्थिति में ग्रसित व्यक्ति अपनी सोच और मन पर काबू (uncontrolled thoughts) नहीं कर पाता है। ऐसी मानसिक विकार की स्थिति में लोग एक ही काम को बार बार (repetitive work) करने लगते हैं या करने की सोचते हैं।

अधिकांश लोगों के जीवन में किसी न किसी प्वाइंट पर ऑब्सेशन और कंपल्शन (Obsession and Compulsion) की स्थिति आती ही है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सभी को ओसीडी की समस्या है।

OCD यानि मनोग्रषित बाध्यता विकार की स्थिति को योगासन के द्वारा आसानी से काबू में किया जा सकता है। यदि आप नीचे बताए गए ओसीडी के लिए योग आसन का प्रयोग करते हैं तो इससे मुक्ति पा सकते हैं। चलिए जान लेते हैं OCD ke liye yog aasan कौन से हैं।

इसे भी पढ़ें –> सीबीसी टेस्ट क्या है, कब, क्यो, कैसे किया जाता है Cbc test in hindi

ओसीडी के लिए योग आसन (OCD ke liye Yog Aasan)

मनोरोग, मानसिक तनाव, मन की शांति के लिए बहुत से योगासन और प्राणायाम बताए जाते हैं। हम आपको 5 बहुत ही कारगर मनोरोग को दूर करने वाले योगासन बताने वाले हैं।

यदि आपको ऐसी कोई समस्या नहीं भी है तो भी हम सुझाव देंगे की ये योगासन प्राणायाम जरूर करें जिससे आपको स्वास्थ लाभ होगा और मन हमेशा खुश रहेगा।

1. मार्जरी आसन (Marjariasana)

ओसीडी के लिए योग आसन

ओसीडी के लिए योग आसन

  • मार्जरी आसन को दूसरे शब्दों में Cat Pose Yoga भी कहते हैं।
  • मार्जरी आसन करने के लिए सर्वप्रथम वज्रासन में बैठें।
  • हाथों को आगे कर घुटनों (knee) के बल आ जाएं।
  • आगे की दिशा में झुकें।
  • हथेलियों (palms) को नीचे की ओर और उंगलियों को आगे की दिशा की ओर रखते हुए हाथों को फर्श पर सपाट रखें।
  • हाथों को घुटनों की सीध में रखें।
  • बाजुओं और जाँघों को फर्श से सीधा रखें।
  • गहरी सांस अंदर लें और सिर को ऊपर उठाते हुए रीढ़ की हड्डी पर नीचे की दिशा में दबाव डालें
  • पेट को जितना हो सके फैलाएं।
  • फेफड़ों को अधिकतम संभव हवा भरने दें। कम से कम 3 सेकंड के लिए सांस रोककर रखें।
  • रीढ़ को ऊपर की दिशा में खींचते हुए सांस छोड़े और सिर को नीचे करें।
  • सिर को बाजुओं के बीच (जाँघों के सामने) छोड़ दें।
  • अच्छे परिणाम के लिए ऊपर बताए गए चरणों को 3 से 5 बार करें।

इसे भी पढ़ें –> 10 सबसे best पतंजलि मोटा होने की दवा हिंदी

2. बाल आसन (Baalasna)

OCD ke liye yog aasan

बाल आसन को दूसरे शब्दों में Child’s Pose भी कहते हैं। अगर आप ओसीडी के लिए योग आसन की तलाश में हैं तो बालासन उनमें से एक है। बालासन दिमाग में रक्त संचार बढ़ाकर मानसिक तनाव से दूर रखता है। चलिए देखते हैं बाल आसन कैसे किया जाता है:

  • अपने हाथों और घुटनों के बल चटाई पर आ जाएं।
  • अपने घुटनों को अपनी चटाई जितना चौड़ा फैलाएं धीरे-धीरे।
  • अपने माथे को फर्श को छूने के लिए आगे झुकें, साँस छोड़ते हुए ऐसा करें।
  • अपनी बाहों को अपने शरीर के साथ रखें
  • सुनिश्चित करें कि आपकी हथेलियां ऊपर की ओर हों।
  • अब आप इस मुद्रा में हैं कि अपनी छाती को जांघों पर धीरे से दबाएं (Press chest or breast against thighs) 45 सेकंड से 1 मिनट तक रुकें।
  • अपनी सांस को नियंत्रित करें जैसे ही आप साँस छोड़ते हैं, अपने शरीर और बाहों को नरम करें।
  • 4-12 सांसों के लिए दोहराएं।
  • अपनी हथेलियों को कंधों के नीचे रखें और धीरे-धीरे अपने ऊपरी शरीर को ऊपर उठाएं ताकि सांस भरते हुए एड़ी पर बैठने की स्थिति में लौट आएं।

3. पश्चिमोत्तानासन (Paschimottanasana)

ओसीडी के लिए योग आसन

ओसीडी की समस्या से निजात पाने के लिए पश्चिमोत्तानासन एक बेहतरीन योगासन है। आप में से ज्यादातर लोगों ने यह आसन अपने स्कूल के दिनों में जरूर किया होगा।

  • मैट पर दोनों पैरों को सीधे कर के बैठ जाएं और पीठ को सीधी रखें।
  • अपने हाथों को अपने सिर के ऊपर उठाएं।
  • अब, अपनी रीढ़ को ऊपर और सीधा रखते हुए श्वास लें।
  • जैसे ही आप साँस छोड़ते हैं, धीरे-धीरे अपने पैर की उंगलियों की ओर झुकें जितना आपका शरीर अनुमति देता है।
  • इस स्थिति में कुछ सेकंड तक रहें और सामान्य और धीरे-धीरे सांस लें।
  • इस पोजीशन से निकलने के लिए अपने सिर को ऊपर उठाएं और पैरों को फैलाकर धीरे-धीरे शुरुआती पोजीशन में वापस आ जाएं।
  • इसे आप 10 से 12 बार कर सकते हैं।

4. पद्मासन (Padmasana)

OCD ke liye Yog Aasan

  • दंडासन में फर्श पर पैरों को फैलाकर बैठ जाएं।
  • अपने दाहिने घुटने को बगल (Arms) की तरफ मोड़े, और अपने घुटने (knee) और अपने पैर को अपने हाथों में पकड़ लें।
  • पैर को कूल्हे (Elbow) से घुमाएं (घुटने से नहीं) और अपने पैर को अपने बाएं कूल्हे की क्रीज में ले जाएं।
  • बाएं घुटने को मोड़े, जांघ (Thigh) को कूल्हे से बाहर की ओर घुमाएं और जैसा आपने दाईं ओर किया था।
  • अपनी पिंडली को थोड़ा ऊपर उठाएं और बाएं पैर को दायीं ओर करें, और इसे दाहिने कूल्हे की क्रीज पर लाएं
  • पैरों के शीर्ष को अपनी ऊपरी जांघों के खिलाफ व्यवस्थित करें और अपने घुटनों को फर्श की तरफ छोड़ दें लंबा बैठें, अपनी उरोस्थि (breast bone) को उठाएं और अपनी रीढ़ को लंबा करें।
  • धीमी, गहरी सांसें लें और जब तक आरामदायक हो मुद्रा में रहें।

इसे भी पढ़ें –> 11 सबसे Best वजन बढ़ाने की सिरप, आयुर्वेदिक दवा, कैप्सूल और टेबलेट

5. सिद्धासन (Siddhasana)

ओसीडी के लिए योग आसन

  • अपने पैरों को सीधे अपने सामने और हाथों को अपने पक्षों (Thigh) के साथ फर्श पर बैठकर शुरू करें।
  • बाएं घुटने को मोड़े और अपनी बायीं एड़ी को अपने शरीर के करीब लाएं अपने दाहिने घुटने को मोड़े और इसे बाएं टखने (Ankle) के सामने की ओर ले जाएं।
  • इस पोजीशन से सांस लें और सांस छोड़ते हुए अपना दायां पैर उठाएं और इसे अपने बाएं टखने (Ankle) के ठीक ऊपर रखें अपने दाहिने पैर की उंगलियों को मांसपेशियों के बीच की जगह में स्लाइड करें अपने हाथों को अपने पक्षों (Thighs) से लें और उन्हें हथेलियों को घुटनों पर नीचे रखें।
  • ध्यान रहे, आपके घुटने फर्श को छूना चाहिए।
  • अपनी निगाह आगे की ओर करके सीधे बैठें।
  • आपके सिर के ऊपर से फर्श तक एक अच्छी, सीधी रेखा होनी चाहिए।
  • एक मिनट या उससे अधिक समय तक गहरी सांस लें और छोड़ें।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने बात की ओसीडी क्या है, सबसे कारगर ओसीडी के लिए योग आसन (OCD ke liye yog asana), और योगासन के फायदे | योग सभी प्रकार की बीमारिओयों से लड़ने के लिए बहुत ही कारगर कसरत है और बिलकुल नेचुरल है |

उम्मीद करते हैं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आप भी योगासन का लाभ उठाकर खुद को स्वस्थ रखेंगे | इस पोस्ट को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करें |

यदि आपका कोई जानने वाला ओसीडी से ग्रसित है या मानसिक तौर से परेशान है तो उन्हें इन योगासनों के बारे में जरूर बताएं | हो सकता है आपके एक शेयर से किसी की जिंदगी में खुशियाँ लौट आये |

Leave a Comment