5 सबसे असरदार पतंजलि दाद की दवा patanjali khujli ki dawa

पतंजलि दाद की दवा :- दाद बेहद ही असहजता और परेशानी वाला चर्म रोग है ( skin diseases ) जिसमें व्यक्ति की ऊपरी त्वचा पर लाल – लाल ऊभरे हुई चक्ते हो जाते हैं जिनमें तेज खुजली आती है ।

शुरूआत में ये दाद इतने छोटे होते हैं की सामान्यता नजर ही नही आते लेकिन जब तक इन पर नजर पडती है तब तक ये शरीर के एक बडे हिस्से पर कब्जा जमा लेते हैं ।

बहरहाल दाद एक जनलेवा बिमारी नही है लेकिन इसकी खुजली की शिद्दत किसी भी शख्स की जिंदगी को काफी कष्टदायक बना सकती है ।

यह रोग फंगल इंफेक्शन के द्वारा फैलता है इसलिए आमतौर पर किसी दाद से पीडित व्यक्ति के कपडे या स्किन छूने से भी दाद हो सकता है ।

दाद या खुजली से पीडित व्यक्ति की जिंदगी काफी परेशानीयां भरी हो सकती है जब तक की वो इस बिमारी से आजाद नही हो जाता ।

वैसे दाद के घरेलू उपाय, अग्रेजी दवा और इस जैसे कई दूसरे समाधान मौजूद है लेकिन इस लेख में हम आपको पतंजलि दाद की दवा के बारे में बताएगे ।

इस दवा का उपयोग करने से ना केवल आपकी खुजली दूर होगी बल्कि त्वचा भी पहले की तरह खूबसूरत एंव हैल्दी हो जाएगी ।

तो बिना समय बर्वाद किये पतंजलि खुजली की दवा के बारे में जानते हैं ।

पतंजलि दाद की दवा – patanjali khujli ki dawa

पतंजलि दाद की दवा
पतंजलि दाद की दवा

So friends नीचे आपको पतंजलि खुजली की दवा के बारे में बताया जा रहा है जिससे आपको कुछ ही दिनों में आराम मिलने लगेगा ।

पतंजलि दाद की दवा है कायाकल्प तेल

पतंजलि दाद की दवा में सबसे ज्यादा कायाकल्प तेल को यूज किया जाता है जिसमे पुरी तरह हर्बल Oils का उपयोग किया जाता है ।

इसके असरदार होने के कारण ही कुछ लोग इसे पतंजलि खुजली का तेल कहते हैं । यह ऑयल तेज खुजली को शांत करता है साथ ही दाद के कारण होने वाले जख्मों को भी दूर करता है ।

कुछ लोगो की Skin ज्यादा Dry होती है जिसकी वजह से त्वचा फड़ी – फड़ी हो जाती है और उसमें दरारें भी पड़ने लगती हैं । इस स्थिति पतंजलि दिव्य कायाकल्प तेल का इस्तेमाल करने पर काफी लाभ मिलता है ।

एंटीसेप्टिक गुणों से भरपूर ये तेल ना केवल दाद और ड्राई त्वचा की समस्या दूर करता है बल्कि इससे चर्म रोग, सोरायसिस और रंजकता के कारण होने वाले निशान एंव धब्बे भी दूर होते हैं ।

अगर आपको अपने दाद की समस्या का प्राकृतिक समाधान चाहिये तो एक बार इस तेल का जरूर उपयोग करें ।

दवा की समाग्री :- काली जिरीक, चिरायता तिल तैल, देवदरु, बहेड़ा, पनवड़ बीजो, द्रोणपुष्पी, गिलोय, बकुचिओ, उषाव, गोमूत्र, खैरछली, सत्यनासी, हल्दी, करंज बीज, इंद्रायणमूल, चंदन, नीम चली, कुटाकी, हराडी, मंजीठो, और अमला

दवा के फायदे :-

1. खुजली में आराम देती है
2. दाद खत्म करती है
3. त्वचा का सूखापन दूर करती है
4. दाग धब्बों को खत्म करने में मदद करती है
5. रंजकता को दूर करने में सहायक है ।

पतंजलि दाद की टेबलेट हैं दिव्य कायाकल्प वटी

कायाकल्प वटी पतंजलि खुजली की टेबलेट हैं जिसको सत प्रतिशत नेचुरल इंग्रीडिएट्ल से बनाया गया है । यह चर्म रोगों की बेस्ट दवा मानी जाती है ।

यह दवा मुख्य रूप से खून को साफ यानी डिटॉक्सीफाई करती है और शरीर से हानिकारक तथा विषैले पदार्थों को भी दूर करती है ।

प्रदूषित वातारवरण और खराब Deit के चलते त्वचा रूखी तथा क्षतिग्रस्त होने लगती है जिसके चलते पिम्पल, मुहांसे और ब्लैक हैड्स जैसी समस्याएं जन्म लेने लगती है ।

लेकिन पतंजलि दिव्य कायाकल्प वटी का सेवन करने से शरीर में पोषक तत्व संतुलित होते हैं और आपको हैल्थी एंव खूबसूरत त्वचा मिलती है ।

ना केवल दाद और खुजली बल्कि इस टेबलेट को एक्जिमा, ल्यूकोडर्मा, तथा कुष्ठ दूर करने में भी मदद मिलती है । अगर आप कायाकल्प तेल के साथ कायाकल्प वटी को भी नियमित रूप से लेते हैं तो कुछ ही दिनों में दाद साफ होना शुरू हो जाएगे ।

दवा की समाग्री :- कलमिशोरा, चंदन स्वेट, रसमानिक्य, मंजिष्ठा, नीलाथोथाशुद्ध, गिलोय, दारू हल्दी, कत्था, पनवड़, देवदरु, कुटकी, रीठा, चोटिकटाली, बकुची, उष्वा, इंद्रायणमूल, चिरायता,खैर, करंज, द्रोणपुशपी, हल्दी,
आंवला, नीम और हरड़

दवा के फायदे :-

1. खून को साफ करती है
2. Skin problems को दूर करती है
3. दाद एंव खुजली को दूर करने में असरदार है

इसे भी पढ़े :>> दाद, खाज, खुजली की दवा, ईलाज, कारण और बचाव

दाद की गोली है दिव्य हरिद्रखंड टेबलेट

कई बार दूषित आहार या प्रदूषित वातावरण के कारण हमारे शरीर में विषाक्त एंव हानिकारक पदार्थ प्रवेश कर जाते हैं जो बाद में दाद, खाज और खुजली को जन्म देते हैं । हरिद्रखंड टेबलेट इन्ही हानिकारक तत्वों को बहार निकाल कर दाद खत्म करती है ।

यह दाद को खत्म करने की एक भरोसेमंद और पोपुलर दवा है जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाये जाते हैं इससे खुजली, सुजन और दाद की जलन भी दूर होती है ।

दवा की समाग्री :- छाव्या, नागरमोथा, अभ्रक भस्म, हल्दी, जीरा, वाया-विदांग, अमला, लौहभस्म, निसोथो, धनिया, बहेड़ा, पिप्पल छोटा, हराड, हराडी, तेजपत्र, दारू हल्दी, वासा, अजमोद, गिलोय, चिनि, इलाइची छोटा, दालचीनी, अजवायन, सौंथ, चित्रकमूल और कुटकिक

दवा के फायदे :-

1. स्किन एलर्जी दूर करती है
2. बॉडी डिटॉक्सीफाई करने में सहायक है
3. सुजनरोधी गुणों से भरपूर है

पतंजलि दाद की क्रीम है दिव्य एलोवेरा जैल

एलोवेरा जैल को सदियों से दाद की रामबाण दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है । यह दवा बैक्टेरियल और फंगल इंफेक्शन के साथ दाद को भी जड़ से खत्म करने में मदद करती है ।

पतंजलि एलोवेरा जैल तेजी से दाद को खत्म करता है, खुजली कम करता है साथ ही जलन एंव असहजता में भी आराम पहुचाता है ।

आप पतंजलि एलोवेरा जैल को सीधे अपने दाद वाली स्किन पर लगा सकते हैं ।

दवा की समाग्री :- एलोवेरा

दवा के फायदे :-

1. रंजकता को कम करती है
2. जलन में आराम पहुचाती है
3. दाद के खत्म करती है
4. निखार लाने में मदद करती है ।

इसे भी पढ़े :>> दाद को जड़ से खत्म करने की दवा, उपाय और टेबलेट

पतंजलि खुजली की दवा है दिव्य सेब का सिरका

पतंजलि सेब का सिरका कई Health benefits से भरपूर है । इससे बल्ड शुगर कम होती, केलोस्ट्रोल कम होता है, Weight loss होता, और मधुमेह में भी आराम मिलता है ।

इन सब के अलावा सेब का सिरका दाद की रामबाण दवा के रूम में भी इस्तेमाल किया जाता है क्योकि इसमें शक्तिशाली एंटी फंगल गुण होते हैं जो त्वचा के दाद को जड़ से खत्म करते हैं ।

इसलिए इस मेडिसिन को पुराने से पुराने दाद की दवा के नाम से जाना जाता है ।

दवा की समाग्री :- सेब का जूस

दवा के फायदे

1. पेट की चर्बी कम करने में मदद करती है
2. शुगर लेवल को नियंत्रित करती है
3. आँखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक है
4. दाद को खत्म करती है

निष्कर्ष

So प्यारे दोस्तों यहाँ हमने आपको विस्तारपूर्वक पतंजलि दाद की दवा – patanjali khujli ki dawa के बारे में बताया, मुझे उम्मीद है की आपको इस पोस्ट से कुछ सीखने को मिला होगा, अगर आप आगे भी इसी तरह की हैल्थ से रीलेटेड पोस्ट्स को पढ़ना चहाते हैं तो हमारे ब्लॉग Healthydawa से जुड़े रहें ।

 

इन्हे भी पढ़े :>>

1. पतंजलि में शुगर की बेस्ट दवा 

2. मोटा होने के लिए सबसे असरदार पतंजलि की दवा

3. 3 सबसे असरदार पतंजलि नाईट फॉल मेडिसिन Patanjali nightfall medicine In Hindi

4. 100% कामयाब घुटने का दर्द उपाय पतंजलि द्वारा

Leave a Comment