100% कारगर खूनी बवासीर का रामबाण इलाज, पतंजलि दवा और घरेलू उपाय

बवासीर बहुत ही दर्दनाक और तकलीफदेह बिमारी है इस बिमारी की तकलीफ और दर्द केवल वही व्यक्ति समझ सकता है जो इसका सामना कर रहा है । इस रोग में मलद्वार और गुदा के आसपास तेज दर्द, चुभन, जलन, मस्से और दुखन होने लगती है । इससे परेशान व्यक्तियों की तदात दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है इसलिए खूनी बवासीर का रामबाण इलाज ढूढ़ना बेहज जरूरी है

हम आपको बता दें की बवासीर दो प्रकार का खूनी बवासीर और वादी बवासीर होता है । खूनी बवासीर में मल के साथ खून आने लगता है जबकि वादी बवासीर में गुदा ( Anus ) पर मस्से निकल आते हैं ।

इस लेख में हम आपको दोनों प्रकार के बवासीर का रामबाण इलाज बताएगे, साथ ही बवसीर के मस्से हटाने की दवा और क्रीम की भी पूरी जानकारी देगे ।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको बवासीर के उपचार के लिए कही भटकने की अवाश्यकता नही पढ़ेगी क्योकि इस लेख में हमने बवासीर के उपचार की पूरी जानकारी दी है ।

आप चाहे खूनी बवासीर से जूझ रहे हों या फिर वादी बवासीर का दर्द सह रहे हों इस आर्टिकल में आपको सभी का समाधान मिलेगा ।

तो ज्यादा फालतू समय ना लेते हुए पाइल्स का इलाज हिंदी में जानते हैं ।

खूनी बवासीर का रामबाण इलाज – piles ka ilaj hindi

खूनी बवासीर का रामबाण इलाज
खूनी बवासीर का रामबाण इलाज

 

बवासीर यानी पाइल्स ( Piles ) या जिसे English में hemorrhoids भी कहते हैं एक बहुत ही कष्टदायक बिमारी है जिसका सही समय पर उपचार ना करने पर व्यक्ति को काफी पीडा हो सकती है ।

लेकिन आप आधी अधूरी जानकारी के आधार पर इसका Ilaj नही कर सकते, जैसा की हमने अभी कहा बवासीर कई प्रकार का होता है जिनका इलाज अलग-अलग तरह से किया जाता है इसके अलावा बवासीर के मस्सों की उपचार विधि भी अलग है इसलिए यहाँ हम आपको बवासीर के प्रकार के अनुसार ही उसका उपाय और दवा के बारे में बता रहे हैं ।

बवासीर के आयुर्वेदिक उपाय – piles ke gharelu upay

1. जामुन :- जामुन खूनी बवासीर का रामबाण इलाज है आयुर्वेदिक जानकारों के अनुसार खूनी बवासीर में जामुन का पाऊडर काफी लाभदायक सिध्द हो सकता है । अगर आप बवासीर से ज्यादा परेशान हैं तो सूखी जामुन की गुठली को पीस कर एक चम्मच गुनगुने पानी या फिर छाछ के साथ नियमित रूप से ले सकते हैं । इससे जल्द ही खूनी बवासीर में राहत मिलने लगेगी ।

2. आँवला पाउडर :- आँवला को आयुर्वेद में कई गंभीर रोगों के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है इसके अलावा इसमें प्रचूर मात्रा में विटामिन सी और दूसरे पोषक तत्व भी होते हैं जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते है । इन सब फायदों के अलावा आँवला बवासीर की गारंटी की दवा भी माना जाता है ।

आंवले के द्वारा बवासीर का उपचार करने के लिए
आपको पुरी रात आंवला चूर्ण को मिट्टी में रखना है
इसके बाद सुबह उठ कर चिरचिटा की जड़ और मिश्री में मिला कर पीना है ।

3. हरड पाउडर :- हरड़ चूर्ण को भी पाइल्स के घरेलू उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जाता है बवासीर से छुटकारा पाने के लिए आप आधा चम्मच हरड़ चूर्ण को हल्के गर्म पानी के साथ ले सकते हैं ।

4. बड़ी इलायची :- आयुर्वेद के जानकार बड़ी इलायची को खूनी बवासीर का रामबाण इलाज बताते हैं । बड़ी इलायची से पाइल्स का इलाज ( piles ka ilaj ) करने के लिए 50 ग्राम बड़ी इलायची को भून कर सुबह खाली पेट नियमित सेवन करें ।

5. किशमिश :- किशमिश को भी पाइल्स की आयुर्वेदिक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है । रात को सोने से पहले 100 ग्राम के लगभग किशमिशों को पानी में भिगो कर उन्हे सुबह पानी के साथ मसल कर पी जाएं । लगातार ऐसा करने से Piles में आराम मिलेगा ।

6. काली मिर्च :- काली मिर्च बवासीर का असरदार घरेलू उपाय है इसके Regular use से बवासीर की समस्या में काफी लाभ पहुचेगा । इसके लिए काली मिर्च और जीरे के पाउडर को शहद ( Honey ) के साथ लिया जा सकता है ।

7. अंजीर :- अंजीर ना केवल स्वादिष्ट होता है बल्कि इसके औषधिय गुण कई गंभीर रोगो में भी काम आते हैं । सुबह के समय अंजीर के सेवन से बवासीर और उससे होने वाले दर्द में राहत मिलती है । अंजीर से बवासीर का इलाज करने के लिए 4-5 अंजीरों को पूरी रात भीगोने के लिए छोड़ दें फिर सुबह जागने के बाद उन अंजीरों को पीस कर खा लें, लगातार कुछ दिनों तक ऐसा करने पर आपको खुद फर्क महसूस होगा ।

8. दालचीनी :- दालचीनी और शहद का मिश्रण भी पाइल्स के उपचार ( piles ka upchar ) के लिए उत्तम माने जाते हैं इनके औषधिय गुण खूनी बवासीर को जड़ से खत्म करने में मदद करते हैं । इसके लिए आपको एक चम्मच शहद के साथ एक चौथाई दालचीनी पाउडर का प्रतिदिन सेवन करना है ।

9. इसबगोल :- इसबगोल कई औषधिय गुणों से भरपूर होता है जो कई गंभीर रोगो के इलाज में मददगार होते हैं इसमें रेचक होता है जो मल को मुलायम करता है जिससे बवासीर के दौरान होने वाले कब्ज और मस्सों के दर्द से राहत मिलती है

10. सेब का सिरका :- यदि आप बवासीर की समस्या से ज्यादा परेशान है तो एक ग्लास पानी में थोड़े सिरके को डाल कर प्रतिदिन ले सकते हैं इस उपाय से भी आपको बवासीर में जल्दी राहत मिलेगी ।

इसे भी पढ़े :> Piles treatment in hindi बवासीर का इलाज तथा उपचार

बवासीर की गारंटी की दवा – bawaseer ki ayurvedic dawa

अभी तक हमने आपको खूनी बवासीर का रामबाण इलाज बताया लेकिन कुछ लोगों को घरेलू उपायों के द्वारा आराम मिलने में समय लगता है क्योकि ये आयुर्वेदिक नुस्खे बिमारी की जड़ पर काम करते हैं ।

ऐसे में बवासीर की आयुर्वेदिक दवा इस्तेमाल की जा सकती है जिससे आपको जल्दी आराम मिलेगा । यहाँ आपको बवासीर की दवा पतंजलि ( bawaseer ki dawa patanjali ) के बारे में बताया जा रहा है क्योकि ये दवाएं 100% आयुर्वेदि तथा Side effects मुक्त होती हैं ।

त्रिफला :- बवासीर की टेबलेट पतंजलि

त्रिफला गुग्गुल टेबलेट बवासीर की बेस्ट दवाओं में से एक है खासतौर से खूनी बवासीर के उपचार में इसको सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है इस आयुर्वेदिक औषधि से फिस्टुला, अस्थि मज्जा के जोड़ों में वात, वात संबंधी दर्द, और साइटिका जैसी समस्याओं में काफी लाभ मिलता है ।

यह दवा 100% आयुर्वोदिक है इसलिए इस मेडिसिन का कोई Side effect नही है लेकिन फिर भी आपको इस मेडिसिन को डॉक्टर की सलाह अनुसार ही लेना चाहिये ।

दिव्य अर्शकल्प वटी – patanjali piles tablet in hindi

दिव्य अर्शकल्प वटी बवासीर की टेबलेट है इसकी 2 टेबलेट्स को सुबह खाली पेट हल्के गुनगुने पानी के साथ लेने से खुनी बवासीर जड़ से खत्म हो जाता है और वादी बवासीर के मस्सों में भी राहत मिलती है इसलिए कुछ लोग इन टेबलेट्स को मस्से की दवा patanjali के नाम भी गूगल पर सर्च करते हैं ।

बवासीर की पतंजलि दवा है दिव्य कायाकल्प वटी

इस दवा को आमतौर पर Skin problems में लिया जाता है लेकिन ये दवा बवासीर के उपचार में भी असरदार होती है क्योकि बवासीर से जुड़ी समस्याएं गुदाद्वार की बहारी त्वचा पर ही होती है ।

इस दवा के बेस्ट रिजाल्ट पाने के लिए सुबह खाली पेट हल्के गर्म दूध या गुनगुने पानी के साथ लिया जाता है ।

बवासीर की रामवाण दवा है दिव्य चूर्ण और त्रिफला चूर्ण

कब्ज को बवासीर का पिता माना जाता है इसी की बदौलत खूनी बवासीर उत्तपन्न होता है इसलिए अगर हमेशा के लिए बवासीर से छुटकारा चाहिये तो पहले कब्ज का नाश करना पडेगा । कब्ज को बाय बाय करने के लिए आप रात को सोने से पहले पतंजलि दिव्य चूर्ण और त्रिफला चूर्ण की 5 ग्राम या 10 ग्राम मात्रा को गुनगुने पानी के साथ ले सकते हैं ।

इन पाऊडरों को लेने से सुबह पेट अच्छे से साफ होगा और कब्ज से छुटकारा मिलने लगेगा ।

इसे भी पढ़े :> 101% कारगर कब्ज का रामबाण इलाज पतंजलि, Kabj ki ayurvedic dawa

बवासीर की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि – patanjali medicine for piles in hindi

अब जिस दवा के बारे में हम आपको बता रहे हैं वो बवासीर की गारंटी की दवा है अधिकतर लोगों का मानना है की इस पतंजलि दवाओं के उपाय से 3 दिन में ही बवासीर खत्म हो जाता है ।

इस दवा को बनाने के लिए आपको इन पतंजलि औषधियों की जरूरत पडेगी

1. पतंजलि दिव्य सर्वकल्प क्वाथ :- 200 ग्राम
2. पतंजलि दिव्य कायाकल्प क्वाथ :- 200 ग्राम

ऊपर दी गई दोनों दवाओं को मिला कर आपको इनका एक चम्मच लेना है और 400 मिली पानी में तब तक पकाना है जब तक की ये मिश्रण 100 मिली ना रह जाए, इसके बाद आपको इसे छान लेना है ओर डेली सुबह शाम खाली पेट इसका सेवन करना है ।

नियमित रूप से इन दवाओं को लेने से धीरे-धीरे आपका बवासीर अलविदा हो जाएगा ।

बवासीर के मस्से को जड़ से खत्म करने का उपाय

मस्से बवासीर का सबसे भयानक रूप है इस रोग से ग्रसित व्यक्ति को अत्यंत पीडा का सामना करना पडता है लेकिन चिंता की बात नही है जिस तरह खूनी बवासीर का इलाज मौजूद है उसी तरह बवासीर के मस्से का रामबाण उपाय और इलाज भी मौजूद है ।

यहाँ हम आपको कुछ सबसे असरदार बवासीर के मस्सो के घरेलू उपाय बता रहे हैं ।

1. नीम का तेल बवासीर के मस्से सुखाने का रामबाण उपाय है प्रतिदिन मस्सों पर नीम का तेल लगाने और 4-5 बूंदों का सेवन करने से मस्सों से आराम मिलता है ।

2. बवासीर के मस्से जल्दी हटाने के लिए आप बड़ी इन्द्रफला की जड़ को छाया में सुखाकर प्रभावित जगह पर लगा सकते हैं इस उपाय से भी आपको जल्दी राहत मिलेगी ।

3. पतली दही या फिर छाछ में जीरा पाउडर और काला नमक मिला खाने से भी मस्से खत्म होते हैं ।

4. लौकी गुड को कांजी में पीसकर मस्सों पर लगाने से मस्से हटने लगते हैं ।

5. चलिये अब हम आपको बवासीर के मस्से खत्म करने का असरदार घरेलू उपाय बताते हैं । इस उपाय को करने के लिए आपको नीम के सॉफ्ट पत्तों को घी में भून कर उनमें थोड़ा कपूर मिक्स करना है इसके बाद उन्हो टिकिया की तरह बना लेना है अब डेली एक टिकिये को गुदाद्वार पर बाँधना है इससे कुछ ही दिनों में मस्से खत्म होना शुरू हो जाएगे ।

बवासीर के मस्से हटाने की दवा

दोस्तों बाजार में सौकड़ो प्रकार की बवासीर के मस्से हटाने की दवा है लेकिन हम आपको मस्से हटाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं को उपयोद करने की ही सलाह देगे क्योकि एलोपैथिक दवाओं के कुछ Side effects हो सकते हैं ।

जहाँ तक मेडिसिन की बात है तो बवासीर के मस्से की दवा patanjali में भी मौजूद है जिनमें से कुछ के बारे में हम ऊपर बता चुके हैं । वैसे तो उन दवाओं को खूनी बवासीर के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन उनसे वादी बवासीर में भी आराम मिलता है ।

अगर आप मस्सों में होने वाली खुजली या जलन से ज्यादा परेशान हैं तो पतंजलि एलोवेरा जैल को मस्सों पर लगा सकते हैं । एलोवेरा जैल बवासीर के मस्से की दवा patanjali में शेष्ठ उपाय माना जाता है ।

इस उपाय से आपको जलन खुजली और दर्द में तुरंत आराम मिलेगा ।

बवासीर के मस्से हटाने की क्रीम – piles warts removal cream in hindi

दोस्तों बवासीर के मस्से हटाने की दवा का उपयोग करने के साथ यदि आप बहारी रूप से किसी आयुर्वेदिक क्रीम या फिर लेप का Use करते हैं तो आपको जल्द ही इस दर्दनाक समस्या से छुटकारा मिल जाएगा इसी को देखते हुए हम यहां बवासीर के मस्से हटाने की आयुर्वेदिक क्रीम के बारे में बता रहे हैं

Piles cure cream – बवासीर के मस्से की आयुर्वेदिक क्रीम

Piles cure cream बवासीर के मस्से सुखाने की 100% आयुर्वेदिक क्रीम है । इसमें किसी भी प्रकार के कैमिकल या कृत्रिम उपाय का Use नही किया जाता इसलिए Piles cure cream को इस्तेमाल करना 100% सुराक्षित माना जाता है ।

इस क्रीम में हरिद्रा और पिपली जैसी आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल किया जाता है जो बवासीर के मस्से की खुजली, जलन, दर्द, दुखन और खून को रोकती है । लगातार इस क्रीम को इस्तेमाल करने से बवासीर के मस्से जड़ से खत्म हो जाते हैं ।

Herbal Thuja Warts cream – बवासीर के मस्से सुखाने की क्रीम

Piles cure cream की तरह Herbal Thuja Warts cream भी एक हर्बल क्रीम है जो बवासीर के कारण होने वाली परेशानियों में राहत देती है । ये सुजनरोधी क्रीम भी है जो बवासीर के मस्सों की सूजन दूर करती है ।

निष्कर्ष

तो दोस्तों इस लेख में हमने आपको खुनी बवासीर का रामबाण इलाज और बवासीर के मस्से की दवा patanjali के बारे में भी बताया है । हमें आशा है की आपको यह लेख जरूर पसंद आया होगा । तो दोस्तो मिलते हैं Next post में तब तक के लिए Take care And stay safe

Leave a Comment