प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए ? इतने बजे उठने से मां और बच्चे दोनों को होगा जबरदस्त फायदा

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए – महिलाओं की प्रेगनेंसी की तारीख निश्चित हो जाने के बाद उन्हें काफी सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। इसके साथ ही महिलाऐं अपने सोने उठने और खाने की रूटीन में भी बदलाव करती हैं।

ऐसा ही एक बहुत आम सवाल महिलाऐं पूछती हैं कि प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए ? (Pregnancy me subah kitne baje uthna chahiye).जिनको पता नहीं है उन्हें बता दें कि प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को चलने की सलाह दी जाती है और महिलाऐं भी खुद चलना पसंद करती हैं।

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए

एक्सपर्ट्स की मानें तो ऐसा महिलाओं में फोलिक एसिड तथा आयरन की कमी के कारण हो सकता है।

वैसे हम उम्मीद करते हैं आपको प्रेगनेंसी संबंधित सभी सावधानियों की उचित जानकारी होगी और किसी भी सवाल जवाब के लिए आप हमें नीचे कमेंट कर सकते हैं। आपको अपने चिकित्सक के द्वारा बताए गए खाने, सोने उठने, नहाने, लेटने, इत्यादि का पालन करना चाहिए। तो चलिए शुरू करते हैं आज का आर्टिकल।

प्रेगनेंसी में सुबह उठने का सही समय क्या है ?

प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए, यह व्यक्तिगत प्राथमिकता और गर्भावस्था की अवस्था पर निर्भर करता है। हालांकि, आमतौर पर कहा जाता है कि प्रेगनेंसी में सुबह 6 बजे से पहले या 6 से 7 के बीच उठना चाहिए। इससे शरीर को पर्याप्त नींद मिलती है और दिनभर ऊर्जा बनी रहती है।

इसके अलावा इस समय की हवा भी ताज़ी होती है जो जच्चा बच्चा दोनों के लिए ही काफी लाभदायक होती है। यदि आप सुबह जल्दी उठने में असमर्थ हैं, तो धीरे-धीरे अपने सोने का समय बदलें और रात में जल्दी सोने की आदत डालें जिससे आपकी नींद भी पूरी हो जाए और आप जल्दी उठ सकें।

ध्यान रखें कि सुबह कितने बजे उठना चाहिए, यह व्यक्ति की शारीरिक और मानसिक स्थिति पर निर्भर करता है। जिन महिलाओं को सुबह जल्दी उठने की आदत नहीं है, फिर भी उन्हें कोशिश करनी चाहिए कि ऐसी गर्भवती महिलाऐं सुबह 6 से 7 बजे के बीच उठ जाएं तो बेहतर है।

प्रेगनेंसी में सुबह जल्दी उठने के फायदे के क्या हैं ? Pregnancy Me Subah Jaldi Uthne Ke Fayde

केवल प्रेगनेंसी के दौरान ही नहीं अपितु आम समय में भी सुबह जल्दी उठने की कोशिश करनी चाहिए। बात की जाए गर्भवती महिला को सुबह कब उठना चाहिए और सुबह जल्दी उठने के फायदे की, तो इसके निम्नलिखित फायदे हैं :

  • तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है क्योंकि सुबह का समय आमतौर पर शांत और शांतिपूर्ण होता है। इस समय उठने से आप प्रकृति के साथ जुड़ने और अपने विचारों को शांत करने का समय पा सकती हैं। इससे तनाव और चिंता को कम करने में मदद मिलती है।
  • रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है। सुबह जल्दी उठने से आपका रक्तचाप नियंत्रित रहता है। इससे हृदय रोग और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है।
  • सुबह की ताज़ी हवा से आपको अनेक स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं जो आपके दिन भर के कामों में नियंत्रण रखने में मदद करता है।
  • वजन बढ़ने को नियंत्रित करने में मदद करता है। सुबह जल्दी उठने से आपके पास दिनभर के लिए अधिक समय होता है। इस समय आप व्यायाम, योग या अन्य शारीरिक गतिविधियों को कर सकती हैं। इससे वजन बढ़ने को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।
  • पाचन तंत्र को ठीक रखने में मदद करता है। सुबह उठने के बाद शरीर में मेटाबॉलिज्म तेज होता है। इस समय उठने से आपका पाचन तंत्र बेहतर तरीके से काम करता है। इससे कब्ज, अपच और गैस जैसी समस्याओं को कम करने में मदद मिलती है।

ये कतई जरुरी नहीं है कि आपको सुबह 9 बजे उठने की आदत है और प्रेगनेंसी कन्फर्म होने के तुरंत बाद आप 6 बजे उठना शुरू कर दें। आपको धीरे धीरे बदलाव लाना चाहिए और टारगेट सेट करें कि आपको कब उठना है।

इसे भी पढ़ें – प्रेगनेंसी में मंदिर जाना चाहिए या नही ? जान लो बरना पछताना पडेगा

उल्टा बच्चा पैदा होने के फायदे : गर्भ में उल्टा बच्चा मां के लिए कितना घातक या फायदेमंद है ?

सुबह जल्दी उठने के लिए क्या करें ?

प्रेग्नेंट महिलाओं का हमेशा यह सवाल रहता है कि प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए और यदि नहीं उठ पा रहे हैं तो जल्दी उठने के लिए क्या करें।

यदि आप प्रेगनेंट हैं और सुबह जल्दी उठने में परेशानी हो रही है, तो आप निम्नलिखित सुझावों का पालन कर सकती हैं:

  • अपने सोने के समय और दिनचर्या को नियमित रखें और हर रात एक ही समय पर सोने और जागने की कोशिश करें। इससे आपके शरीर को एक नियमित लय मिल जाएगी।
  • आप चाहें तो सोने से पहले हल्की गतिविधि कर सकती हैं अर्थात सोने से पहले हल्की सैर या योग करने से आपको नींद अच्छी आएगी।
  • एक और बात का ध्यान रखें कि सोने से पहले कैफीन और शराब बिल्कुल नहीं लेना है। कैफीन और शराब नींद में बाधा डाल सकते हैं। वैसे भी गर्भावस्था में शराब इत्यादि नशें से बचना चाहिए।
  • सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध या हर्बल टी पिएं। गर्म दूध या हर्बल टी आपको आराम करने में मदद कर सकती है।

इसे भी पढ़ें – होम्योपैथी में शराब छुड़ाने की दवा, पतंजलि, आयुर्वेदिक दवा और घरेलू उपाय

निष्कर्ष – प्रेगनेंसी में सुबह कितने बजे उठना चाहिए

दोस्तों, आज के आर्टिकल में आपने जाना गर्भावस्था में सुबह कितने बजे उठना चाहिए और सुबह जल्दी उठने के फायदे क्या होते हैं। यद्यपि यदि आप सुबह 6 से 7 बजे के बीच उठ जाए तो यह अति उत्तम है और यदि आपको आदत नहीं है तो धीरे धीरे इसमें सुधार लाएं। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें, केवल इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के आधार पर कदम न उठाएं।

Leave a Comment