5 सबसे कारगर सफेद दाग की पतंजलि दवा, क्रीम और उपाय vitiligo in hindi

सफेद दाग का इलाज पतंजलि :- सफेद दाग जिसे लुकोडेर्मा ( Leucoderma ) या विटिलिगो ( vitiligo ) कहा जाता है एक स्किन से जुड़ी बिमारी है । इस रोग में व्यक्ति की त्वचा पर सफेद दाग ऊभर आते हैं जो सामान्य त्वचा से कई गुना ज्यादा व्हाइट होते हैं ।

सफेद दाग क्यो होता है ? इस सवाल का जबाव अभी तक डॉक्टर और हैल्थ एक्सपार्ट स्पष्ट रूप से नही दे पाये हैं लेकिन अधिकतर लोगों का अनुमान है की ये मेलानोसाइट्स की कमी के चलते होता है ।

मेलानोसाइट्स से शरीर में मेलानिन नाम का स्किन पिगमेंट बनता है जोकि त्वचा के सामान्य कलर को बनाये रखता है ।

लेकिन मेलानोसाइट्स की मात्रा घटने पर शरीर में रंग बनाने वाली कोशिकाएं नष्ट होना शुरू हो जाती हैं जिसका परिणाम ये होता है की व्यक्ति विटिलिगो ( vitiligo ) का शिकार बन जाता है ।

सफेद दाग की बिमारी में जलन, झनझनाहट और खुजली जैसी कोई समस्या नही होती लेकिन कुछ लोगों को धूप में निकलते समय हल्की – हल्की जलन का अनुभव होता है ।

इस बिमारी से जान का खतरा तो नही होता मगर व्यक्ति की सुंदरता और आत्मविश्वास को काफी चोट पहुचती है ।

शुरूआत में लुकोडेर्मा ( Leucoderma ) के दाग बहुत छोटे होते हैं जिसके चलते ये कई बार नजर ही नही आते लेकिन जैसे – जैसे इनका आकार बढ़ता है इनके फैलने की रफ्तार भी बढ़ जाती है ।

इसलिए जितनी जल्दी हो सके सफेद दाग का इलाज ( vitiligo treatment in hindi ) करवाना चाहिये। इसी उद्देश्य से आज यहाँ हम आपको सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि बता रहे हैं ।

यहाँ बताएई गई patanjali medicine for vitiligo से आपको काफी लाभ मिलेगा । तो समय बर्वाद ना करते हुए सफेद दाग का पतंजलि इलाज जानते हैं ।

सफेद दाग का इलाज पतंजलि – patanjali treatment for vitiligo in hindi

सफेद दाग का इलाज पतंजलि
सफेद दाग का इलाज पतंजलि

दोस्तों यहाँ हम आपको आयुर्वेद और मशहूर योग गुरू बाबा रामदेव के अनुसार लुकोडेर्मा का इलाज और बेस्ट मेडिसिन बता रहे हैं ।

सफेद दाग की दवा पतंजलि है Bakuchi churna





पतंजलि बकुची चूर्ण सफेद दाग की बेस्ट दवा है इसको बकुची बीच के अर्क से बनाया जाता है । इससे ना केवल स्किन रीलेटेड समस्याए दूर होती हैं बल्कि leucoderma भी कंट्रोल होता है ।

बकुची के बीच बहुत ही शक्तिशाली आयुर्वेदिक हर्ब है जो खून को साफ करती है और skin damage और disorders को भी दूर करती है ।

यह दवा 100% नेचुरल इंग्रेडिएंट्स से बनी है इसलिए इसको Use करने का कोई Side effect नही होता बल्कि पुरी Skin health में एक नई जान आती है ।

बाबा रामदेव के अनुसार पतंजलि बकुची चूर्ण से सफेद दाग का इलाज ( safed daag ka ilaaj ) करने के लिए बकुची चूर्ण को गौमूत्र में भिगो कर
उसको सुखा लें, ऐसा 6-7 बार करना है ।

इसके बाद 100 ग्राम बकुची चूर्ण और 20 ग्राम कायाकल्प वटि के साथ उसमें थोड़ा गिलोय ( 20 ग्राम गिलोय की गोली ) को आपस में मिला लें ।

इसके बाद तैयार दवा की 2-2 ग्राम मात्रा को दिन मेंं तीन बार सुबह, दोपहर और शाम को लेना हैं ।

नियमित रूप से इस दवा का सेवन करने से जल्द ही सफेद दाग से राहत मिलना शुरू हो जाएगी और उनकी बढ़ने की रफ्तार भी कम हो जाएगी ।

सफेद दाग का पतंजलि उपाय है  KAYAKALP KWATH

अभी तक हमने आपको सफेद दाग की खाने की दवा ( Safed daag ki Patanjali dawa ) के बारे में बताया । अब हम आपको एक आयुर्वेदिक काढ़ा बताते हैं जो आपको सफेद दाग की समस्या से जल्द ही राहत देगा ।

इसके लिए आपको 20 – 20 ग्राम कायाल्प क्वाथ को दिन में दो बार ऊबाल कर पीना है । काढ़े को तब तक उबालना है जब तक उसका सिर्फ एक चौथाई भाग ही शेष ना रह जाए ।





इसे भी पढ़े :> पिम्पल के लिए 10 सबसे बेस्ट क्रीम 

सफेद दाग की क्रीम पतंजलि है श्वित्रघ्न लेप

योग गुरू बाबा रामदेव के मुताबिक vitiligo से प्रभावित त्वचा पर श्वित्रघ्न लेप लगाने अत्यधिक लाभ मिलता है । आप शहद या गौधन अर्क में श्वित्रघ्न लेप को मिक्स कर के लगा सकते हैं ।

शुरूआत के 3-4 दिन इस लेप को यूज करने से आपकी स्किन पर फफोले हो सकते हैं अगर ऐसा होता है तो आप एलोवेरा जैल का उपयोग कर सकते हैं । इस दवा को इस्तेमाल करने पर पहले त्वचा लाल पडेगी फिर होले – होले सामान्य होने लगेगी ।

इस दवा के असरदार होने के कारण ही कुछ लोग इसे सफेद दाग की क्रीम पतंजलि कहते हैं ।

सफेद दाग का इलाज बाबा रामदेव द्वारा – baba ramdev tips for vitiligo in hindi

1. प्राणायाम करें :- रामदेव के मुताबिक नियमित रूप से कपालभाति का आधा घंटा अभ्यास करने और आधा घंटा अनुलोम विलोम का अभ्यास करने से लुकोडेर्मा से राहत मिलना शुरू हो जाती है ।

2. तनाव को अलविदा करें :- दूसरी Health problems के अलावा Skin releted problems के पीछे भी स्ट्रेस और तनाव होता है ।

दरअसल तनाव से शरीर में हार्मोनल असंतुलन हो जाता है जिसके चलते कई Skin problems हो जाती है ।

सफेद दाग हटाने की क्रीम है Tolenorm Oil Ointment

ये सफेद दाग हटाने की सबसे प्रभावी क्रीमों में से एक है जिसको पुरी तरह आयुर्वेदिक और प्राकृतिक तत्वों से बनाया जाता है । इस दवा के शक्तिशाली हर्ब त्वचा को सामान्य रंग प्राप्त करने में मदद करते हैं ।

इसे भी पढ़े :> 22 सबसे बेस्ट मर्दाना ताकत बढ़ाने की दवा Takat ki dava

सफेद दाग का होम्योपैथिक इलाज

होम्योपैथी सफेद दाग को सिर्फ एक त्वचात्मक रोग की तरह नही देखता इसके अनुसार ये बहारी कारणों के प्रति आतंरकि प्रक्रिया है ।

ये एक ऑटोइम्यून डीसीज़ है जिसमें शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मेलोनोसाइट्स को खत्म करना शुरू कर देती है जिससे व्हाइट पैचेस होना शुरू हो जाते हैं ।
होम्योपैथिक दवाएं इम्यून सिस्टम की इस दिक्कत को दूर कर के सफेद दाग का उपचार ( safed daag ka upchar ) करती हैं ।

अगर हम एलोपैथी में सफेद दाग के इलाज की बात करें तो यहाँ सन एक्सपोजर, Uv rays और स्टेरॉयड्स शामिल हैं मगर इनसे साइड इफेक्ट्स होने की संभावना बहुत ज्यादा रहती है ।

डॉ० रोहित जैन एक मशहूर होम्योपैथिक डॉक्टर है जिनके यूटुब पर करीब 50 हजार Subscriber हैं उनके अनुसार स्ट्रेस, और तनाव से सफेद दाग की समस्या बढ़ती है ।

इसलिए ज्यादातर होम्योपैथिक डॉक्टर विटिलिगो का ट्रीटमेंट देने के साथ तनाव का भी उपचार करते हैं ।

होम्योपैथी में सफेद दाग का ट्रीटमेंट करने के लिए लगभग 33 दवाएं मौजूद है मगर आपको कभी भी खुदसे किसी दवा को नही लेना चाहिये क्योकि डॉक्टर दवा को मरीज के रोग की गंभीरता, लक्षण, और दूसरे कई कारणों के आधार पर देता है ।

इसलिए मैं यहाँ किसी भी सफेद दाग की होम्योपैथिक दवा के बारे में नही बता रहा हू क्योकि ये कई लोगो की हैल्थ के लिए नुकसानदायक हो सकता है ।

सफेद दाग में क्या खाना चाहिये – vitiligo me kya khana chahiye

किसी भी बिमारी से रीकवर होने की दर आपकी डाइट और लाइफस्टाइल पर भी निर्भर करती है । इसलिए vitiligo ka ilaaj करने के लिए यहाँ हम आपको कुछ Deit tips दे रहे हैं ।

तो सबसे पहले जानते हैं विटिलिगो में क्या खाना चाहिए ?

1. सब्जियां और फल ( vegetables and fruits ) : सब्जियों और फलों अगर आप हल्दी, तोरई, अनार, परवल, टिंडा, लौकी, करेला, सहजन  और नींबू जैसे खाद पदार्थों का सेवन करेगे तो ज्यादा बेहतर रहेगा ।

2. अनाज ( Grains ) :- गेहूँ, पुराना चावल और जौं

3. दालें ( pulse ) :- दालों में आप मूंग और अरहर का सेवन कर सकते हैं ।

4. दूसरे खाद पदार्थ :- जीरा, अदरक, जायफल
एरंड तेल, करेली की सब्जी, काला नमक, शुंठी,
लहसुन, सौंफ और हींग

सफेद दाग में क्या नहीं खाना चाहिए – vitiligo me kya nahi khana chahiye

1. सख्त मनाई वाली चीजें :- लुकोडेर्मा ( Leucoderma ) से पीडित व्यक्ति को कभी भी माँस, मीट से बने सूप का सेवन नही करना चाहिये इसके अलावा एल्कोहल, फास्टफूड, सॉफ्ट ड्रिंक्स, अचार, ज्यादा तैलीय पदार्थ, डिब्बा बंद खाद पदार्थ,
और ज्यादा नमकयुक्त वाला आहार से भी बचना चाहिये ।

2. सब्जियां एंव फल :- कन्द मूल वाले खाद पदार्थ और आलू का इस्तेमाल ना करें

3. दालें :- दालों में मटर, काबुली चना और देशी चने लेने से बचें

4. अनाज :- अनाजों में मैंदा और नया धान से परहेज करना चाहिये ।

5. दूसरे खाद पदार्थ :- पाचन शक्ति कमजोर करने वाले और पेट से जुड़ी समस्याओं जैसे- गैस और जलन को पैदा करने वाले पदार्थों से बचें

अगर आप बहुत ज्यादा दूध तथा दही का सेवन करते हैं तो इनसे भी दूरी बना लें, इसके साथ ही ठंडा पानी, ठंडा खाना, गंदा पानी, मछली, कठिनाई से पचने वाला आहार और गुड़ को लेने से भी बचें ।

निष्कर्ष

तो दोस्तों हमेशा की तरह हमने आज भी इस Post के माध्यम से एक Health problem का सल्यूशन दिया इसमें हमने आपको सफेद दाग का इलाज पतंजलि – patanjali treatment for vitiligo in hindi के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी ।

हमें आशा है की आपको ये लेख जरूर पसंद आया होगा अगर पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें, तो मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए Take care and stay healthy

2 thoughts on “5 सबसे कारगर सफेद दाग की पतंजलि दवा, क्रीम और उपाय vitiligo in hindi”

    • जितनी जल्दी हो सके अपना ट्रीटमेंट शुरू कर दिजिए शुरूआत में इस बिमारी को कंट्रोल करना आसान होता है

      Reply

Leave a Comment